अनुक्रमणिका

अनुक्रमणिका

lotus icon 6 पृष्ठ क्र. 6

गुरुदेव की कृपा का फल


गुरुदेव की कृपा का फल

महर्षि जी की यह दोनों अभिव्यक्तियाँ अतिप्रिय थीं। आइये हम सब मिलकर उनके देवीय आशीर्वाद की छत्रछाया में संकल्प लें कि समस्त चराचर विश्व के कल्याणार्थ महर्षि जी के समस्त संकल्प शीघ्र ही पूर्ण हों।....

Subscribe Mahamedia Magazine to Read More...

lotus icon 6 पृष्ठ क्र. 8

मंत्र दृष्टा शस्त्र-सृष्टा महर्षि अगस्त्य


मंत्र दृष्टा शस्त्र-सृष्टा महर्षि अगस्त्य

वेदों के मंत्रदृष्टा अनेक ऋषि हैं। इन्हीं में से एक हैं मुनि अगस्त्य जिन्होंने मोक्षकामी-आध्यात्म अथवा सत्ताकामी-पदयात्रा से एकदम निस्पृह रहकर उत्तर में हिमालय से चल कर दक्षिण भारत में अपना आश्रम-स्कन्धावार स्थापित किया।...

Subscribe Mahamedia Magazine to Read More...

lotus icon 6 पृष्ठ क्र. 10

व्यवहार की परतंत्रता


व्यवहार की परतंत्रता

जीवन में सबसे अधिक संकट रिश्तों के आंगन में खड़ी छोटी- छोटी दीवारों से है। संवाद के पुल टूट रहे हैं, दीवारें तेजी से खड़ी हो रही हैं। मनभेद में बदलते मतभेद, रिश्तों में पड़ती गठान तनाव के पालनहार हैं!...

Subscribe Mahamedia Magazine to Read More...

lotus icon 6 पृष्ठ क्र. 12

आनंद दायक है ईश्वर के साथ होने का अनुभव


आनंद दायक है ईश्वर के साथ होने का अनुभव

आओ याचना नहीं प्रार्थना करने मार्ग पर अग्रसर होवें और इसके लिए ऐसे मार्गदर्शन की खोज करें जो हमें प्रार्थना करना सीखाए। हमारा जीवन सफल हो इसके लिए ईश्वर से अनन्य प्रेम का रिश्ता जुड़े और हम आनंदमय जीवन बिताएं। विशेष प्रार्थना में ऐसी शक्ति है कि हमारा भयसंश य और सारी और बुराइयां दूर हो जाती है।...

Subscribe Mahamedia Magazine to Read More...

lotus icon 6 पृष्ठ क्र. 14

और भी अहम में जीवन परिक्षा


और भी अहम में जीवन परिक्षा

यदि आप में दृढ़ इच्छाशक्ति और असफलता का सामना कर आगे बढ़ने की सामर्थ्य है जो आपको सफल होने से कोई रोक नहीं सकता। अंग्रेजी की एक कहावत 'स्ट्रगल ऐंड शाइन' से हमेशा मुश्किल में प्रेरणा लेते रहना चाहिए। कोई जरूरी नहीं कि हर बार व्यक्ति को सफलता या जीत ही मिले।...

Subscribe Mahamedia Magazine to Read More...

lotus icon 6 पृष्ठ क्र. 16

पिता ऐसी बेटी पर गर्व करेंगे


पिता ऐसी बेटी पर गर्व करेंगे

जीवन ने 19 वर्ष की सियामी की एक कड़ी परीक्षा ली। एक ओर देश के प्रति कर्त्तव्य था, दूसरी ओर बेटी का धर्म। चयन सरल न था। एफआईएच शृंखला के तहत शनिवार को खेला जाने वाला सेमीफाइनल भारत को ओलंपिक के लिए क्वालिफाई कराने वाला था।...

Subscribe Mahamedia Magazine to Read More...