Founder Mahamedia Magazines

राशिफल एवं व्रत/त्यौहार

मासिक राशिफल
January-2019
rasifal

mesh

मेष राशि वालों के लिय धनार्जन की दृष्टि से यह वर्ष सामान्यतया अच्छा है। लाभेष वर्ष पर्यन्त लाभ स्थान पर दृष्टिपात करेंगें। आय में शनै: शनै: वृद्धि होगी। वर्ष की पहली तिमाही कार्य व्यवसाय की दृष्टि अच्छी है, अपने परिश्रम तथा लगन से कार्य क्षेत्र की बाधायें दूर होंगी। मार्च से आगे केतु कार्य क्षेत्र से शनि के साथ भाग्य में आयेगें। जिससे कार्य व्यापार सम्बंधित रुके कार्यों के मार्ग खुलेगें। बढ़ी पूंजी का निवेश करने में जल्दबाजी मत करना, जोखिम पूर्ण कार्यो में निवेश करना हानि कारक होगा। मई से जुलाई तक भाई-बंधु, सहकर्मियों से वैमनस्य हो सकता है, अत: सामंजस्य पूर्ण व्यवहार रखें। वाहन चलाते समय तथा अग्नि, विद्युत सम्बंधित कार्यों में लापरवाही न करें। इस वर्ष प्रकृति से विशेष सहयोग की प्राप्ति संभव नही है। पुरूषार्थ परिश्रम लगन से कार्य करने से ही सफलता के मार्ग प्रशस्त होगें। स्थानान्तरण एवं दूर प्रवास की विशेष सम्भावनायें हैं। यात्राओं में कष्ट संभावित हैं। संतान की उन्नति के प्रति चिंतित हो सकते है। शिक्षा, प्रतियोगी परीक्षाओं में कठिन परिश्रम की आवश्वकता है, शिक्षा में कुछ बाधायें सम्भव है, अत: लगन से अध्ययन करें।

vrash

वृष राशि वाले लोगों के लिये यह वर्ष व्यवसायिक दृष्टि से सामान्य शुभ है। बृहस्पति वर्ष पर्यन्त व्यवसाय, सांझेदारी, आय, धन लाभ, शिक्षा और संतान के लिए उन्नति कारक है। नौकरी पेशा वालों के लिये यह वर्ष चुनौतिपूर्ण हो सकता है। मार्च से आगे कार्य क्षेत्र में बाधायें एवं कठिनाई संभव है। यह वर्ष कार्य व्यापार में परिवर्तन के लिये कठिन होगा, अत: जिस क्षेत्र में हो वही लगन से कार्य करें। जल्दबाजी में परिवर्तन करना हानि कारक होगा। स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान रखें, वात जनित परेशानियां सम्भव है, उदर सम्बंधित रोग तथा जोड़ो में दर्द आदि सम्भव है। जून, जुलाई तथा अक्टूबर के आस- पास चोट-चपेट का भय है, सावधानी रखें। आय के लिये यह वर्ष ठीक है पर धन संचय संतोष जनक नही होगा। शिक्षा की दृष्टि से यह वर्ष अच्छा है। अध्ययन लगन से करे, मन को भ्रमित नही करें, सफलता मिलेगी। पारिवारिक तथा दाम्पत्य जीवन सामान्यत: ठीक रहेगा। शनि ढ़ैया तथा शनि केतु की युति बाधायें कठिनाईयां देती रहेंगीं। अत: शनि अढ़ैया हेतु हनुमत आराधना करें। शनि केतु राहु का दान, शांति आदि करें।

mithun

मिथुन राशि वाले लोगों के लिये यह वर्ष नौकरी एवं पदोन्नति, नौकरी में परिवर्तन आदि के लिये समय सामान्यत: ठीक रहेगा। गुरु अच्छे कार्यो में निवेश करायेगे, आर्थिक तालमेल अच्छे बनायेगें। करें। शिक्षा में कठिन परिश्रम की आवश्यकता है, राहु भ्रमित करेगा, दु:संगति से बचें। संतान पक्ष से कुछ चिंतित रह सकते हैं, संतान की उन्नति में बाधायें संभव है। मार्च के बाद से राहु भ्रमित बिचार, दुविधापन में डालेगा। हितचिन्तिकों से सलाह लेकर ही महत्त्वपूर्ण निर्णय लें। स्वास्थ्य में सुधार हो सकता है। शनि केतु व्यापार, साझेदारी के कार्यो में कठिनाई तथा बाधायें डालेगें। परिवार में कुछ तनाव, वैचारिक मतभेद हो सकते है, अत: सामंजस्य पूर्ण माहौल बनाये रखें। अप्रैल से जून तक वाद-विवाद चोट-चपेट का भय है, व्यर्थ के कार्यों में न पड़े। मंगल का दान कार्य व्यापार में सफलता के लिये मन विचारों में स्थिरता लाये। मन मस्तिष्क की स्थिरता, कुशलता हेतु भावातीत ध्यान योग आदि का अभ्यास करें।

kark

कर्क राशि वाले लोगों के इस वर्ष लिये यह बृहस्पति बहुत शुभफल दायक हैं। भाग्य का सहयोग मिलेगा। धार्मिक यात्रायें होगीं। संतान पक्ष से प्रसन्नता मिलेगी, शिक्षा प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलतायें प्राप्त होगीं। बौद्धिक विकास होगा। आय के स्रोत मजबूत होगें तथा आय में वृद्धि होगी। व्यापार साझेदारी के क्षेत्र में मार्च के बाद समस्यायें कम होगी। उन्नति तथा विस्तार के मार्ग खुलेगें। मई-जून में कार्य क्षेत्र में बाधाये आयेगी या परिश्रम की अधिकता होगी। इस समय विशेष सावधानियां रखना, व्यर्थ के कार्यो में न उलझें। स्वास्थ्य की दृष्टि से मई से जुलाई तक ध्यान रखना है, चोट-चपेट से बचे। राहु, शनि, केतु व्यय स्थान को प्रभावित कर रहें है। खर्च की अधिकता रहेगी। व्यर्थ के कार्यो में खर्च से बचें। धन सम्पत्ति के लेन-देन एवं निवेश करने में विशेष सावधानियाँ रखें, धन-हानि हो सकती है। इस वर्ष विरोधियों से सावधानी रखें। वाद-विवाद, झगड़ों से दूर रहें। भगवान शिव की आराधना करें। राहु का दान, उपाय आदि करें।

sinh

सिंह राशि वालों के लिये यह वर्ष कार्य व्यवसाय के लिये सामान्यतया ठीक रहेगा। रूका हुआ धन प्राप्त हो सकता है। संतान की उन्नति तथा वैवाहिक सम्बन्ध के लिये चिंतित रहेगें। शिक्षा में लगन से अध्ययन करें, समय का सदुपयोग करें, दु:संगति से दूर रहें। स्वास्थ्य की दृष्टि से यह वर्ष उतार चढ़ाव युक्त रहेगा। उदर पीड़ा, वात विकार आदि संभव है। अपै्रल से आर्थिक समस्यायें कम होगी। आय में वृद्धि होगीं, लम्बी यात्रायें हो सकती हैं। फरवरी से मई के बीच स्थिर सम्पत्ति, भूमि, भवन, वाहन आदि से लाभ प्राप्त हो सकता है। जुलाई में धन का निवेश सोच समझ कर करें। घर में मांगलिक कार्य होगें। पुराने वाद विवाद सुलझेगें। धार्मिक सामाजिक कार्यो में लगाव बढ़ेगा। मार्च से आगे शनि, केतु की युति पंचम भाव पर रहेगी, जिससे विचारो में नकारात्मकता भ्रम निराशा आदि की भावनायें आ सकती है। अत: मन विचारो में सकारात्मकता लाने के लिये भावातीत ध्यान आदि करें, सत्संगति करें। उत्तम सफलता के लिये भगवान सूर्य और भगवान सदाशिव की आराधना करें।

kanya

कन्या राशि वालों के लिये वृहस्पति भाग्य वृद्धि करेगें। आय में वृद्धि करेंगे। आर्थिक समस्यायें कम होगीं। वैवाहिक जीवन में मधुरता आयेगी। सांझेदारी के कार्यो में सफलता मिलेगी तथा लाभ में वृद्धि संभव है। भाई बंधुओ की चिंता रह सकती है। शनि ठैया वर्ष पर्यन्त रहेगी जो पारिवारिक चिन्ता, गृह क्लेश, बाधा, रूकावटें आदि देती रहेगी। मार्च से शनि के साथ केतु भी चतुर्थ में युति करेगा, जिससे मातृपक्ष से चिंतायें रह सकती है। भूमि भवन वाहन आदि स्थिर सम्पत्ति के कार्यो में सावधानी से क्रय-विक्रय करें। पारिवारिक सम्पत्ति में बँटवारा संभव है। नौकरी पेशा वाले लोगों को अपने कार्य क्षेत्र, पर विशेष ध्यान देना होगा, लापरवाही से बड़ा नुकसान हो सकता है, राहु स्थिति तथा शनि केतु की दृष्टि कार्य क्षेत्र पर होने से पद प्रतिष्ठा में पदच्युति अवन्नति, स्थानान्तरण आदि संभव है। सहकर्मी और उच्चधिकारियों से सामंजस्य रखें। शनि अठैया की शांति करें, राहु केतु के उपाय दान आदि करें। भगवान साम्बसदाशिव की आराधना करे।

tula

तुला राशि वालों के लिये यह वर्ष कार्य व्यावसाय के लिये उत्तम है। आर्थिक उन्नति होगी, धन संचय में वृद्धि होगी, आर्थिक कठिनाईयां दूर होगी। स्वास्थ्य में सुधार होगा। शनि, गुरू शिक्षा के लिये ठीक हंै, समय का सदुपयोग करें, शिक्षा प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता मिलेगी। संतान पक्ष से प्रसन्नता प्राप्त होगी, संतान तरक्की करेगी। परिवार में मागंलिक कार्य होगें। साझेदारो तथा सहकर्मियों से सामंजस्यपूर्ण व्यवहार रखें। वैचारिक मतभेद से बचें। यदि ऋण कर्ज आदि हो तो भार कम होगा, ऋण से मुक्ति मिलेगी। स्थिर सम्पत्ति में धन निवेश कर सकते हैं। अपै्रल से घर गृहस्थिति की समस्यायें दूर होगी। नौकरी में पदोन्नति, अभिष्ट स्थानान्तरण संभव है। नई नौकरी तथा नौकरी में परिवतनर्् ा के लिये समय अनकु ू ल होगा। अपल््रै ा तथा अपल्ै्र ा के आगे पीछे के सप्ताह में चोट चपटे का भय ह।ै निवारण हत्े ाु मग्ं ाल का दान कर।ें जन्ू ा के उत्तरार्द्ध से अगस्त के पहले सप्ताह तक मग्ं ाल नीचस्थ हो कर स्वास्थ्य या कार्य क्षत्र्े ाको पभ््र ााववित करग्े ा।ें कार्यक्षत्र्े ा परविशष्े ा ध्यानरख।

vrashchika

वृश्चिक राशि वाले लोगों के लिये यह वर्ष मिले जुले प्रभाव युक्त रहेगा। संतान पक्ष की चिंतायें दूर होगीं। संतान की तरक्की से प्रसन्नता मिलेगी। भाग्य प्रकृति का सहयोग प्राप्त होगा। शनि साढ़े साती चल रही है, जो कार्य क्षेत्र में बाधायें, मंदता देगी, मानसिक चिंताये देगी। मार्च अप्रैल से शनि केतु की युति तथा अष्टमस्थ राहु आर्थिक बाधायें, अचानक अड़चनें उत्पन्न करेगा। जोखिम पूर्ण कार्य न करे। कर्ज लेने देने से बचें। बड़ी पूँजी का निवेश सोच समझ कर करें। बंधु बाँधवों से वाद-विवाद संभव है, अत: व्यर्थ के वादविवादों से दूर रहें। मई-जून में वाद-विवाद, कोर्ट कचहरी से बचें, अन्यथा नुकसान हो सकता है। अष्टमस्थ मंगल राहु अनावश्यक कार्यो में उलझा सकते हैं। मई-जून में मंगल राहु का दान शांति अवश्य करें। शनि केतु मानसिक चिंता देगा, अत: मन मस्तिश्क के तालमेल हेतु भावातीत ध्यान अवश्य करें। साढ़ेसाती के लिये हनुमत आराधना करें। शनि का दान करें। वृद्धों की सेवा करें। शिक्षा, अध्ययन, प्रतियोगी परीक्षाओं के लिये गुरु वृहस्पति सहायक है, लगन से अध्ययन करें, सफलता प्राप्त होगी।

dhanu

धनु राशि वालों के लिये यह वर्ष परिश्रम युक्त रहेगा। राशि स्वामी गुरु द्वादष में गोचर वश रहेगा। जिससे खर्च की अधिकता रहेगी। धन का उपयोग सोच समझ कर करें। शनि साढ़ेसाती भी वर्ष पर्यन्त रहेगी, शनि साढ़ेसाती कार्य, व्यवसाय दाम्पत्य जीवन को प्रभावित कर रही है। जिससे कार्य व्यापार में लगन तथा परिश्रम से कार्य करें। बड़े परिवर्तन, नये कार्य व्यापार में सोच समझ कर निर्णय लें। जीवन साथी के पक्ष से स्वास्थ्य या अन्य कारण से चिंतायें रह सकती हैं। यात्राऐं होती रहेगी। स्थानान्तरण, परिवर्तन आदि संभव है। आय-व्यय के तालमेल के अनुसार आर्थिक निर्णय लें, अन्यथा आर्थिक समस्याऐं संभव हैं। अप्रैल से केतु शनि राशि में युति करेंगें, जो गुस्सा क्रोध नकारात्मक विचार देते हैं। अत: ईष्ट साधना करें। मन विचारों को भावातीत ध्यान, योग आदि से उत्तम रखने का प्रयत्न करें। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। कार्य व्यापार में सफलता, उन्नति के लिये राशि स्वामी वृहस्पति को प्रबल करने हेतू गुरुवार का व्रत, मंत्र जाप आदि करें, और शनि साढेसाती, राहु केतु की शांति हेतु भगवान षिव का पूजन अर्चन, मंत्रजाप आदि करें।

makar

मकर राशि वालों के लिये यह वर्ष मिले जुले प्रभाव युक्त रहेगा। देवगुरु वृहस्पति शुभ एकादश स्थान में गोचर वश रहेंगें। वृहस्पति लाभ एवं आय में वृद्धि करेगें। शिक्षा, अध्ययन, प्रतियोगी परीक्षाओं के लिये समय अनुकूल रहेगा, इसलिये समय का पूर्ण सदुपयोग करके श्रेष्ठ सफलता पा सकते हैं। वैवाहिक जीवन में कठिनाईयां हों तो कठिनाईयां दूर होगीं। मांगलिक कार्य होंगें। साझेदारी, व्यापार आदि के क्षेत्र की समस्याऐं दूर होगीं। उन्नति होगी। राशि स्वामी शनि व्यय भाव में गोचर करेंगें, जिस कारण साढ़ेसाती भी चल रही है जो व्यय की अधिकता, अनावश्यक खर्च, वाद-विवाद, व्यर्थ का भ्रमण, मानसिक चिंता आदि देंगीं। मार्च के अन्त से शनि के साथ केतु भी आ जायेगा, जिस कारण इसके फलों में वृद्धि होगी। अत: इस वर्ष विशेष रूप से खर्च, निवेश, धन, सम्पत्ति के लेन-देन, और ऋण के लेन-देन में सावधानियां रखें। व्यर्थ के कार्यों में न उलझें। बड़ी पूंजी का निवेश करना या ऋण देना आदि जोखिमपूर्ण रहेगा। भाई-बन्धुओं से सहयोग प्राप्त होगा। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। लापरवाही न करें, आहार, विहार, ऋतुचर्या संतुलित रखें। शनि साढ़े साती तथा केतु की शांति, मंत्रजाप आदि करें।

kunbh

कुंभ राशि वालों के लिये यह वर्ष आर्थिक दृष्टि से उत्तम है। आय में वृद्धि होगी। ऋण से मुक्ति मिलेगी। घर परिवार में खुशियां आयेगीं। मांगलिक कार्य होंगें। शिक्षा के लिये समय सामान्यतया ठीक है, पर राहु बुद्धि के स्थान पर होने से भ्रम दुविधापन या दु:संगति दे सकता है, अत: इन सब पर ध्यान दें। संतान पक्ष से कुछ चिंन्तित रह सकते हैं। मार्च से स्वास्थ्य में सुधार होगा। घर गृहस्थी के रूके कार्य पूर्ण होंगें। भवन, भूमि, वाहन आदि स्थिर सम्पत्ति के खरीददारी के योग हैं। पुराने वाद-विवाद, कोर्ट कचहरी से मुक्ति मिलेगी। शनि लाभ भाव में है अप्रैल से केतु के साथ होकर अचानक लाभ करा सकता है पर स्वास्थ्य की दृष्टि से केतु चोट-चपेट का भय देंगें। मई से जुलाई का समय विशेष सावधानी वाला है। वाद-विवाद झगड़ों से बचें। इस समय मंगल राहु का दान उपाय आदि करें। स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही न करें। वर्ष के मध्य में नौकरी पेशा वालों के लिए समय कुछ कठिनाई युक्त रह सकता है, अपने कार्य क्षेत्र के प्रति लगन से कार्य करें। यह वर्ष मान सम्मान पद प्रतिष्ठा के लिए उत्तम है।

min

मीन राशि वालों के लिये यह वर्ष सामान्यतया उन्नति दायक है। नौकरी पद प्रतिष्ठा के लिये समय गुरु की स्थिति उत्तम है, पर शनि केतु कार्यो में बाधायें और कठिनाईयां देगें। इसलिये कार्य क्षेत्र में परिश्रम, लगन से कार्य करें। परिवार में बड़े बुजुर्ग जनों के स्वास्थ्य पर ध्यान रखें, स्वास्थ्य समस्यायें संभव है। स्वास्थ्य में सुधार होगा। भाग्य प्रकृति के सहयोग से बाधायें, परेशानियां कम होगी। धार्मिक कार्यो में सम्मिलित होगें तीर्थ यात्रायें होगी। संतान पक्ष की चिंताये दूर होगीं। संतान की तरक्की होगी, व अपै्रल से शिक्षा अध्ययन प्रतियोगी परीक्षा आदि के लिये समय अनुकूल रहेगा। लगन से अध्ययन करें, सफलता मिलेगी। मई-जून में पारिवारिक या कार्य क्षेत्र सम्बन्धित परेशानियां संभव है। परिवार में सामंजस्यपूर्ण माहौल रखें। क्रोध, भावावेश में बधुं-बाँधवों तथा सहकर्मियों से विवाद झगड़ों से बचें। स्थानान्तरण तथा नौकरी परिवर्तन में सोच समझकर निर्णय लें।


( महर्षि ज्योतिष विभाग )



माह के व्रत एवं त्यौहार

Untitled.jpg
माह व्रत एवं त्यौहार
मंगलवार 1 - जनवरी 2019 सफला एकादशी व्रत
गुरूवार 3 - जनवरी 2019 प्रदोष व्रत
शनिवार 5 - जनवरी 2019 अमावस्या/गुरु गोविन्द सिंह जयंती (नवीनतम)
गुरूवार 10 - जनवरी 2019 वैनायकी गणेश चतुर्थी व्रत
रविवार 13 - जनवरी 2019 गुरु गोविन्द सिंह जयंती (प्राचीनतम)
मंगलवार 15 - जनवरी 2019 मकर संक्रांति
गुरूवार 17 - जनवरी 2019 पुत्रदा एकादशी व्रत
शुक्रवार 18 - जनवरी 2019 प्रदोष व्रत
माह व्रत एवं त्यौहार
सोमवार 21 - जनवरी 2019 पूर्णिमा/शाकम्भरी जयन्ती
गुरूवार 24 - जनवरी 2019 संकष्टी श्री गणेश चतुर्थी व्रत
शनिवार 26 - जनवरी 2019 भारतीय 69वां गणतन्त्र दिवस
रविवार 27 - जनवरी 2019 श्री रामानन्दाचार्य जयंती/भानू सप्तमी
बुधवार 30 - जनवरी 2019 शहीद दिवस
गुरूवार 31 - जनवरी 2019 शट्तिला एकादशी व्रत